जानिये क्या है पथरी (किडनी स्टोन) के लक्षण, कारण, इलाज, दवा और उपचार पंजाब में?

जानिये-क्या-है-पथरी-(किडनी-स्टोन)-के-लक्षण,-कारण,-इलाज,-दवा-और-उपचार-पंजाब-में (1)
kidney stone

जानिये क्या है पथरी (किडनी स्टोन) के लक्षण, कारण, इलाज, दवा और उपचार पंजाब में?

  • February 8, 2021

  • 1650 Views

गुर्दे की पथरी (किडनी स्टोन): लक्षण, कारण, इलाज, दवा और उपचार पंजाब में, किडनी स्टोन कंकड़ जैसे दिखते है और यह मिनरल एंड नमक के मेल से बने है | इनका आकर मिट्टी जितना भी हो सकता है और एक गोल्फ बॉल की साइज की तरह | कई बार यह हमारे गुर्दे या मूत्र पथ के माध्यम से हमारे शरीर से बाहर आ जाता है |

 

 

भारत में कररीबन 50% लोग इस चिकित्सा बीमारी से झूझ रहे है | इसलिए यह आवशयक है की आप एक अच्छे Nephrologistको सही समय पर परामर्श करे और सबसे सही ट्रीटमेंट प्लान आपकी स्थिति को सही कर देगा | आज ही Kidney specialist लुधियाना को सम्पर्क करे एंड अपने तकलीफ का इलाज पाएं|

 

 

Get In Touch With us

    किडनी स्टोन के प्रकार

    • कैल्शियम स्टोन (Calcium stone)

    कैल्शियम स्टोन सबसे कॉमन प्रकार है | यह कैल्शियम ऑक्सलेट (सबसे आम), फॉस्फेट, या मेलिएट के मेल से बने है | इसको नियंत्रण में करने के लिए आपको आलू, मूंगफली, चॉकलेट, चुकंदर और पालक की मात्रा कम करने होगी |

    • यूरिक एसिड स्टोन (Uric Acid Stone)
      यह प्रकार पुरूष में अधिक पाया जाता है महिलाओं के मुकाबले में | जो लोग कीमोथेरेपी और गाउट की समस्या से जूझ रहे है उनमे में यह बहुत ही कॉमन है | जब मूत्र में एसिड की मात्रा बढ़ जाती है तो इस प्रकार के स्टोन बनते है |
    • स्ट्रूवाइट स्टोन (Struvite Stone)

    यह प्रकार ज्यादातर महिलायों में होती है जिनको मूत्र-पथ से संक्रमण है | इन स्टोन का आकर बड़ा हो सकता है जो की मूत्र में बाधा डाल सकते है |

    • सिस्टीन स्टोन (Cystine Stone)

    इस स्टोन के मामले बहुत ही काम है | इस प्रकार के स्टोन महिलाओं और पुरुषों में पायी जाती है |

    • कैल्शियम स्टोन (Calcium stone)

    कैल्शियम स्टोन सबसे कॉमन प्रकार है | यह कैल्शियम ऑक्सलेट (सबसे आम), फॉस्फेट, या मेलिएट के मेल से बने है | इसको नियंत्रण में करने के लिए आपको आलू, मूंगफली, चॉकलेट, चुकंदर और पालक की मात्रा कम करने होगी |

    • यूरिक एसिड स्टोन (Uric Acid Stone)
      यह प्रकार पुरुष में अधिक पाया जाता है महिलाओं के मुकाबले में | जो लोग कीमोथेरेपी और गाउट की समस्या से जूझ रहे है उनमे में यह बहुत ही कॉमन है | जब मूत्र में एसिड की मात्रा बढ़ जाती है तो इस प्रकार के स्टोन बनते है |
    • स्ट्रूवाइट स्टोन (Struvite Stone)

    यह प्रकार ज्यादातर महिलाओं में होती है जिनको मूत्र-पथ से संक्रमण है | इन स्टोन का आकार बड़ा हो सकता है जो की मूत्र में बाधा डाल सकते है |

    • सिस्टीन स्टोन (Cystine Stone)

    इस स्टोन के मामले बहुत ही काम है | इस प्रकार के स्टोन महिलाओं और पुरुषों में पायी जाती है |

     

    पथरी (किडनी स्टोन) के लक्षण – Kidney Stone Symptoms

    किडनी स्टोन के हमेशा लक्षण नहीं होते है | जिन स्टोन का आकार छोटा है इसमें दर्द नहीं होता है पर कई बार दर्द बहुत ही ज्यादा होती है तो उनमे उपचार की ज़रूरत है |

    दर्द के अलावा, गुर्दे की पथरी के कई अन्य लक्षण भी हो सकते हैं, जैसे –

    • पेशाब करते समय दर्द।
    • मूत्र में खून आना।
    • मूत्र से असामान्य गंध आना।
    • मूत्र में धुंधलापन होना।
    • एक बार में थोड़ा सा ही मूत्र आना।
    • ​पेशाब करने की इच्छा – सामान्य से अधिक |

    पथरी (किडनी स्टोन) के लक्षण – Kidney Stone Symptoms

     

    किडनी स्टोन के हमेशा लक्षण नहीं होते है | जिन स्टोन का आकार छोटा है इसमें दर्द नहीं होता है पर कई बार दर्द बहुत ही ज्यादा होती है तो उनमे उपचार की ज़रूरत है |

    दर्द के अलावा, गुर्दे की पथरी के कई अन्य लक्षण भी हो सकते हैं, जैसे –

    • पेशाब करते समय दर्द।
    • मूत्र में खून आना।
    • मूत्र से असामान्य गंध आना।
    • मूत्र में धुंधलापन होना।
    • एक बार में थोड़ा सा ही मूत्र आना।
    • ​पेशाब करने की इच्छा – सामान्य से अधिक |
    जानिए इसके जोखिम कारक कोनसे है ?

    कुछ ऐसे जोखिम कारक है जो की किडनी स्टोन होने का रिस्क बड़ा सकते हैं :

    पारिवारिक इतिहास

    यदि आपके परिवार में किसे को किडनी स्टोन हुआ है तो , यह संभव है की आपको भी स्टोन्स होने का खतरा हो सकता है | यदि आपको पहले से ही किडनी स्टोन है तो भविष्‍य में इसके बढ़ने के सम्भव अधिक है | 

    पानी काम पीना 

    पानी पीना आपकी सेहत के लिए बहुत ज़रूरी है | यदि आप पानी बहुत ही कम पीते हैं तो किडनी स्टोन होने का खतरा बढ़ जाता है | ध्यान रखें की आपको 6 से 8 गिलास पानी पीना होगा | 

    कुछ तरह का खाना 

    यदि आपके भोजन में प्रोटीन की मात्रा, नमक (Sodium), और चीनी की मात्रा बहुत ही अधिक है तो आपको किडनी स्टोन होने का खतरा बढ़ जाता है | जो इंसान बहुत ही ज़्यादा नमक का सेवन करता है तो उसको ज़्यादा तकलीफ होती है | इस लिए यह ज़रूरी है की आप जो खाएँ वह आपकी पूरी सेहत के लिए लाभदायक हो | 

    मोटापा (obesity)

    ना की सिर्फ मोटापा, यदि आपका बॉडी मास इंडेक्स (BMI), और कमर का साइज बहुत ही ज़्यादा है तो, किडनी स्टोन होने का खतरा बढ़ जाता है | इसलिए यह बेहतर होगा की आप अपने मोटापे को कम करें | 

    सर्जरी और बीमारियाँ 

    यदि आपको पहले कोई बीमारी है या आपने कोई सर्जरी करवाई है तो, जैसे की गैस्ट्रिक बाईपास सर्जरी, भड़काऊ आंत्र रोग या पुरानी दस्त | इन सब की वजह से यह संभव है की पाचन प्रक्रिया को एफेक्ट हो सकता है | जिससे की आपकी बॉडी में कैल्शियम और पानी अब्सॉर्ब नहीं हो पाता और स्टोन बनने की सम्भावना बढ़ जाती है | 

    चिकित्सा की स्थिति

    जैसे की सिस्टिनुरिया, हाइपरपैराथायरायडिज्म, गुर्दे ट्यूबलर एसिडोसिस, और बार-बार मूत्र पथ संक्रमण की वजह से भी किडनी स्टोन होने का खतरा बढ़ जाता है | 

    इन सबके इलावा किसी तरह की दवाई या सप्लीमेंट जैसे की डिप्रेशन या माइग्रेन और विटामिन सी, आहार की खुराक, जुलाब (जब जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल किया), कैल्शियम आधारित एंटासिड की वजह से भी किडनी स्टोन का रिस्क बढ़ जाता है |

    तत्काल चिकित्सा ध्यान

    ऐसे कौन से लक्षण है जब आपको डॉक्टर को तुरंत संपर्क करना होगा :

    • दर्द बहुत ज़्यादा है की बैठना और चलना बहुत ही मुश्किल हो रहा है | 
    • दर्द के साथ मतली और उल्टी (nausea and vomiting) का होना | 
    • दर्द के साथ बुखार और ठंड लगना | 
    • पेशाब में खून का होना | 
    • पेशाब सही से निकल नहीं पा रहा | 

     

    पथरी (किडनीस्टोन) सेबचाव – Prevention of Kidney Stone

    अधिक मात्रा में पानी पिए

    ध्यान रखिये की आपका अधिक पानी पीना है | आप संतरे का जूस एंड नींबू पानी भी पी सकते है | इसका सेवन करने से आपको लाभ पहुंचेगा |

    कैल्शियम लें

    आप अपनी उम्र की हिसाब से कैल्शियम ले | ध्यान रखे की आप डॉक्टर को परामर्श करे की आपको एक दिन में कितना कैल्शियम लेना चाहिए |

    पशु प्रोटीन को सीमित करें

    रेड मीट, मुर्गी, अंडे और समुद्री भोजन का सेवन करने से यूरिक एसिड का लेवल बढ़ सकता है जिससे की किडनी स्टोन होने का खतरा बढ़ जाता है |

    पथरी (किडनी स्टोन) का इलाज – Kidney Stone Treatment in Hindi

    किडनी स्टोन के इलाज के लिए डॉक्टर आपको यह तरीके बता सकते है :

    दबाएं – अगर आपको अधिक दर्द है तो डॉक्टर दवाएं लिख कर देंगे |

    अन्य दवाएं हैं –

    • एलोप्यूरिनॉल (यूरिक-एसिड स्टोन के लिए)
    • सोडियम बाइकार्बोनेट (सोडियम साइट्रेट के लिए)
    • फास्फोरस घोल
    • ड्यूरेटिक दवाएं

    यूरोलॉजिस्ट (urologist) के साथ अपॉइंटमेंट के लिए कैसे त्यार हो ?

    • आपको जो भी लक्षण महसूस हो रहे हैं , उनको लिख लें ताकि आप कुछ भी भूल ना जाएँ | 
    • आप यह ध्यान रखें की आप दिन में कितना पानी पी रहें है | 
    • आप जो भी दवाएँ ले रहें है उनको लिख ले , क्यूंकि डॉक्टर आपको यह ज़रूर पुछेंगे | 
    • यह बेहतर होगा की आप किसी को अपने साथ लेकर आएँ | कई बार हम खुद भूल जाते है और दूसरा इंसान हमें याद दिला देता है की हमें क्या पूछना है | 
    • यदि आपको कुछ भी पूछना है तो उसको लिख के रख लें | 
    जानिये क्या है पथरी (किडनी स्टोन) के लक्षण, कारण, इलाज, दवा और उपचार पंजाब में?